Pune, Mumbai, Sambhajinagar

office@chanakyamandal.org

08069015452

bg_image

Pub Ad Paper 1

खण्ड ‘A’ / Section A

1.

निम्नलिखित मे से प्रत्येक का लगभग 150 शब्दों में लिखिए :
Write on the following in about 150 words each :

(a) लोक प्रबन्ध लोक प्रशासन से ‘क्या’ और ‘क्यों’ तथा व्यवसाय प्रबन्ध से ‘कैसे’ लेता है। विस्तार से समझाइए।
Public Management takes ‘what’ and ‘why’ from Public Administration and ‘how’ from Business Management. Elaborate.

10

(b) प्रत्येक मानवीय संगठन व्यवस्था-I से प्रारम्भ होकर अन्ततः व्यवस्था-IV पर समाप्त होता है। लिकर्ट के कथन पर टिप्पणी किजिए।
Every human organization shall start from System-I and ultimately end up with System-IV. Comment on Likert’s statement.

10

(c) सभी न्यायाधिकरण न्यायालय होते हैं, किन्तु सभी न्यायालय न्यायाधिकरण नहीं होते। व्याख्या किजिए।
All tribunals are courts, but all courts are not tribunals. Explain.

10

(d) शास्त्रीय संगठन सिद्धान्त आधुनिक संगठन सिद्धान्तों के लिए आधार सृजित करता है। विश्लेषण किजिए।
Classical Organisation Theory formed the bedrock for the modern organization theories. Analyse.

10

(e) विशेषकर विकासशील देशों में, राज्य तथा नागरिक समाज के बीच अन्तः क्रिया अब तक विस्तृत रूप से उपेक्षित रही है। परीक्षण किजिए।
Interaction between the State and Civil society has hitherto been largely neglected, especially in developing countries. Examine.

10

50

2.

(a) ‘प्रशासनिक राज्य एक ऐसी शक्ति का निर्माण है जो हमें नियमों के साथ बाँधती है… जो की विधायिका द्वारा नहीं बनाए गए हैं।’ प्रशासनिक राज्य की संवैधानिकता तथा इसके भविष्य का विवेचन किजिए।
“The administrative state is the creation of a power to bind us, with rules… that re not made by legislature.”

20

(b) रूपान्तरणकारी नेतृत्व के लिए उच्च कोटी के समन्वय, सम्प्रेषण तथा सहयोग की आवश्यकता होती है। व्याख्या किजिए।
Transformational leadership requires high degree of coordination, communication and cooperation. Explain.

15

(c) मानव सम्बन्धवादी यह प्रतिपादित करते हैं की ‘कामगार के लिए क्या महत्त्वपूर्ण है और जा उनके उत्पादकता स्तर को प्रभावित करता है, हो सकता है संगठनिक चार्ट नहीं है बल्की अन्य कामगारों के साथ उनके सम्बन्ध है।’ क्या यह आज ज्यादा प्रासंगिक है ?
Human relationists postulate that ‘what is important to a worker and what influences his/her productivity level may not be the organizational chart but his or her associations with other workers.’ Is it more relevant today ?

15

50

3.

(a) बर्नार्ड उदासिनता के क्षेत्र को एक मानवीय दशा मानता है जो आधुनिक संगठनों में प्राधिकार सम्बन्धों तथा सहयोग को चेतन करता है। परिक्षण किजिए।
Barnard posits the zone of indifference as the human condition that animates authority relationships and cooperation in modern organizations. Examine.

20

(b) नव लोक सेवा, लोक सेवा के बारे में क्या विशिष्ट, महत्त्वपूर्ण और अर्थपूर्ण है, का यशोगान करता है। विवेचन किजिए।
New public service celebrates what is distinctive, important and meaningful about public service. Discuss.

15

(c) व्यूहरचनात्मक सम्प्रेषण को एक चुस्त प्रबन्ध प्रक्रिया होना चाहिए। सरकारी कार्यवाहियों के लिए व्यूहरचनात्मक सम्प्रेषण की संकल्पना का विवेचन किजिए।
Strategic communication ought to be an agile management process. Discuss the conceptualization of strategic communication for the government actions.

15

50

4.

(a) ‘नेतृत्व को परिवर्तन के साथ व्यवहार करते देखा जाता है, जब की प्रशासन को जटीलता के साथ मुकाबला करते।’ इस सन्दर्भ में, संगठनों की सफलता के लिए नेतृत्व तथा प्रशासन की प्रासंगिकता का विवेचन किजिए।
‘Leadership is seen as dealing with change, whereas administration is viewed as coping with complexity.’ In this context, discuss the contextuality of leadership and administration for the success of organisations.

20

(b) नियामकीय शासक संरचनाएँ विश्व समाज की आवश्यक निर्माण खण्ड बन चुकी हैं। आशाओं और माँगों की संपूर्ति में इनकी क्षमता और प्रभाव का विवेचन किजिए।
Regulatory governance frameworks have become essential building blocks of world society. Discuss their potential and impact in fulfilling the hopes and demands.

15

(c) सामाजिक अंकेक्षण केवल धन की बचत नहीं है, यह शासन पर सकारात्मक प्रभाव सृजित करता है। टिप्पणी किजिए।
Social auditing is not just saving the money, it creates positive impact on governance. Comment.

15

50

खण्ड ‘B’ / Section B

5.

 

निम्नलिखित मे से प्रत्येक घर लगभग 150 शब्दों में लिखिए :
Write on the following in about 150 words each :

(a) विकास प्रशासन ‘विकासशील देशों द्वारा ग्रहण किए गए नवीन कार्यों को अपनाता है।’ व्याख्या किजिए।
Development Administration ‘embraces the array of new functions assumed by the developing countries.’ Explain.

10

(b) नीति मूल्यांकन सुदृढ लोक शासन में आधारभूत योगदान देता है। विवेचना किजिए।
Policy evaluation contributes fundamentally to sound public governance. Discuss.

10

(c) वेबर की नौकरशाही निर्मिती ने तुलनात्मक लोक प्रशासन के क्षेत्र में शोध को आगे बढाने में एक महान स्वानुभविक उद्देश्य के रूप में सेवा दी है। क्या आप इस कथन से सहमत हैं ? तर्क दिजिए।
Weber’s construct of bureaucracy has served a great heuristic purpose in furthering research in the field of Comparative Public Administration. Do you agree with the statement ? Give reasons.

10

(d) मानक के आधार है जो विनियमें का स्थान तो नहीं लेते किन्तु उनके पूरक है। टिप्पणी किजिए।
Standards are the foundation which do no replace regulations but complement them. Comment.

10

(e) ‘परिणामोन्मुखी बजटन निष्पादन बजटन की कमजोरयों का समाधान करता है।’ विस्तार किजिए।
‘Outcome budgeting addresses the weaknesses of performance budgeting.’ Elaborate.

10

50

6.

(a) ‘विवर्तन की प्रक्रिया जितनी अधिक बहिर्जात होती है, इसकी प्रिज्मीय अवस्था उतनी ही औपचारिक और विजातीय होती है; जितनी अधिक अन्तर्जात होती है, इसकी प्रिज्मीय अवस्था उतनी की कम औपचारिक और कम विजातीय होती है।’ रिग्ज की इस परिकल्पना का परीक्षण किजिए।
“The more exogenetic the process of diffraction, the more formalistic and heterogenous its prismatic phase, the more endogenetic, the less formalistic and heterogenous.” Examine this hypothesis of Riggs.

20

(b) जिस पर्यायवरण ओर परिस्थिती दशाओं में सरकार कार्य करती है वह इसके मानव संसाधन विकास व्यवहारों पर महत्त्वपूर्ण प्रभाव डालती है। परिक्षण किजिए।
The environment and situational conditions under which the government operates have an important bearing on its human resource development practices. Examine.

15

(c) ‘लिण्डब्लोम तार्किक निर्णयन को एक अप्राप्य लक्ष्य मानता है।’ इस कथन के आलोक में, नीति असफलताओं से बचने के लिण उपाय सुझाइए।
‘Lindblom regarded rational decision-making as an unattainable goal.’ In the light of the statement, suggest measures to avoid policy failure.

15

50

7.

(a) वाशिंग्टन आम सहमति के परिणाम संक्रमणकालीन अर्थव्यस्थाओं के लिए इष्टतम से दूर थे। इस पृष्ठभूमि में, उत्तर-वाशिंग्टन आम सहमति की ओर दिशा में परिवर्तन का विवेचन किजिए।
The results of Washingtone Cousensus were far from optimal for transitional economies. In this background, discuss the change of direction towards post-Washington Consensus.

20

(b) एक सुदृढ बजटीय व्यवस्था वह है जो नागरिकों मे विश्वास पैदा करती है, की सरकार उनके सरोकारों को सुनती है। बजटीय शासन के सन्दर्भ में इसका विस्तार किजिए।
A sound budgeting system is one which engenders trust among citizens that the government is listening to their concerns. Elaborate this in the context of budgetary governance.

15

(c) निष्पादन समस्याएँ विरले ही केवल प्रशिक्षण की कमी के कारण होती है और शायद ही कभी केवल प्रशिक्षण से निष्पादन में सुधार किया जा सकता है। कथन का आलोचनात्मक विश्लेषण किजिए।
Performance problems are rarely caused simply by lack of training and rarely can performance be improved by training alone. Critically analyses the statement.

15

50

8.

 

(a) अंकेक्षण कार्य को सदैव सरकारी वित्तीय प्रबन्ध के अभिन्न अंग के रूप में देखा जाता है। सरकारी क्षेत्र के निष्पादन उन्नयन में आंतरिक अंकेक्षण के महत्त्व का विवेचन किजिए।
The audit function has always been viewed as an integral part of government financial management. Discuss the significance of internal audit in improving the performance of the government sector.

20

(b) अधिकांश सिविल सेवा शासन-पद्धतियों में अभी भी ‘सार्वजनिक क्षेत्र नैतिकता’ को भ्रष्टाचार-निरोधी प्रयासों के समान माना जाता है। इस पृष्ठभूमि में आचार-संहिता की अपर्याप्तता का विवेचन किजिए।
Most civil service regimes still equate ‘Public Sector Ethics’ with anti-corruption efforts. Discuss the insufficiency of Ethics-code in this background.

15

(c) लोक नीतियों की असफलता को प्रायः क्रियान्वयन की समस्या पर आरोपित करते हैं, जबकी क्रियान्वयक नीति प्रारूप पर प्रश्न करते हैं। इस प्रतिवाद का विवेचन किजिए।
Failure of public policies has often been attributed to problems of implementation, while implementers question the policy design. Discuss the contestation.

15

50